बिना प्रभु और बाइबिल के देश पर सही ढंग से शासन करना असंभव है.

बिना प्रभु और बाइबिल के देश पर सही ढंग से शासन करना असंभव है.

बिना प्रभु और बाइबिल के देश पर सही ढंग से शासन करना असंभव है.