” क्रोध और आँधी दोनो एक समान है। शांत होने के बाद ही पता चलता है कि कितना नुक़सान हुआ।”

” क्रोध और आँधी दोनो एक समान है। शांत होने के बाद ही पता चलता है कि कितना नुक़सान हुआ।”

” क्रोध और आँधी दोनो एक समान है। शांत होने के बाद ही पता चलता है कि कितना नुक़सान हुआ।”