ऊंचाई की और बढ़े तो कभी भी साथियों की उपेक्षा न करे,

ऊंचाई की और बढ़े तो कभी भी साथियों की उपेक्षा न करे,

ऊंचाई की और बढ़े तो कभी भी साथियों की उपेक्षा न करे,