पूरी दुनिया में ढूढ़ने के बाद भी नही मिलता हैं वही माया हैं और जो एक जगह पर बैठे ही मिल जाए वही परमात्मा हैं.

पूरी दुनिया में ढूढ़ने के बाद भी नही मिलता हैं वही माया हैं और जो एक जगह पर बैठे ही मिल जाए वही परमात्मा हैं.

पूरी दुनिया में ढूढ़ने के बाद भी नही मिलता हैं वही माया हैं और जो एक जगह पर बैठे ही मिल जाए वही परमात्मा हैं.