customize_post_detail_page

https://www.prabhubhakti.com/nariyal-ke-upay
नारियल के इन अचूक उपायों से चुटकी में दूर हो जाती हैं बाधाएं और बढ़ने लगता है धन

नारियल के इन अचूक उपायों से चुटकी में दूर हो जाती हैं बाधाएं और बढ़ने लगता है धन

सनातन परंपरा में नारियल का बहुत महत्व है। पूजा पाठ से लेकर भोजन में प्रयोग किए जाने वाला नारियल सुख-समृद्धि को बढ़ाने वाला और जीवन से जुड़ी तमाम समस्याओं को दूर करने वाला होता है। शुभ कार्य की हर शुरुआत नारियल फोड़कर या फिर चढ़ाकर की जाती है। आइए  'श्रीफल' कहे जाने वाले नारियल से जुड़े महाउपाय के बारे में जानते हैं — 

यदि अरसे से आपकी कोई कामना अधूरी है और तमाम प्रयासों के बावजूद पूरी नहीं हो रही है तो आप नारियल से जुड़ा महा उपाय कर सकते हैं। एक जटाओं वाला नारियल, थोड़ा सिंदूर और तिल का तेल लें। सिंदूर को तिल के तेल में मिलाकर उससे पूरा नारियल रंग दें। इसके बाद मां अंबे से अपनी इस मनोकामना को पूर्ण करने की प्रार्थना करें और साथ ही साथ ‘ॐ ईं ह्रीं कं ह्रीं ईं ॐ’ का उच्चारण 15 मिनट तक इतनी धीमी आवाज में करें कि कोई और सुन ना पाए। इसी नारियल के साथ लगातार 7 दिनों तक इस मंत्र का जाप करें। और सातवें दिन इस नारियल को किसी नदी या बहते हुए पानी में डाल दें।

यदि आपका प्रेमी या फिर आपकी प्रेमिका नाराज चल रही है और नौबत एक-दूसरे से बिछड़ने की आ गई है तो आप समस्या से पार पाने के लिए एक नारियल, धतूरे के बीज और थोड़ा सा कपूर लेकर यह उपाय कर सकते हैं। सबसे पहले नारियल और कपूर लेकर पीस लें। फिर इसमें थोड़ा सा शहद मिलाएं। अब रोजाना घर से बाहर निकलने से पहले इसका तिलक माथे पर लगाकर निकलें। मान्यता है कि इस उपाय को करने से प्रेमी/प्रेमिका कभी एक दूसरे को छोड़कर नहीं जाते और दोनों के बीच प्रेम-व्यवहार बना रहता है। 

यदि आप आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं तो आप माता लक्ष्मी को उनका प्रिय फल नारियल चढ़ाकर उनकी कृपा पा सकते हैं। विदित हो कि मां लक्ष्मी को अत्यंत प्रिय होने के कारण ही नारियल को श्रीफल कहा गया है। मखाने की तरह यह भी कठोर आवरण से ढंका रहता है। जिससे यह शुद्ध और पवित्र रहता है। माता लक्ष्मी को नारियल का लड्डू, कच्चा नारियल और जल से भरा नारियल अर्पित करने पर वह शीघ्र ही प्रसन्न होती हैं।

यदि आपको घर में प्रवेश करते ही भारी-भारी लग रहा हो या फिर आपको स्वयं आपको महसूस हो कि घर को तमाम परेशानियों ने घेर रखा है तो आप नारियल को काले कपड़े में बांधकर घर के बाहर लटका दें। इस उपाय को करने के बाद घर पर लगी बुरी नजर दूर हो जाएगी।

एकाक्षी नारियल बहुत ही शुभ होता है। जिस घर में इसकी नियमित पूजा होती है वहां नकारात्मक शक्तियां नहीं ठहरती हैं। घर में दिनानुदिन उन्नति होती रहती है। लोग खुशहाल रहते हैं।

अपनी पूजा को सफल करने और ईश्वर का आशीर्वाद पाने के लिए अपने पूजा घर में नारियल को लाल वस्त्र में लपेट कर रखें।

पूजा में चढ़ाया नारियल अगर खराब निकल जाए तो इसका मतलब ये नहीं कि कुछ अशुभ होने वाला है, बल्कि इसका मतलब यह होता है कि भगवान ने प्रसाद ग्रहण कर लिया है, इसीलिए वो अंदर से पूरा सूख गया है। इसे मनोकामना पूर्ण होने का संकेत भी माना जाता है। वहीं यदि नारियल फोड़ते समय सही निकले तो उसे सभी के बीच बांट देना चाहिए। ऐसा करना शुभ माना गया है। 

यदि बिजनेस में लगातार घाटा हो रहा हो तो बृहस्पतिवार के दिन एक श्रीफल सवा मीटर पीले कपड़े में लपेटकर एक जोड़ा जनेऊ, सवा पाव मिष्ठान्न के साथ भगवान विष्णु की मूर्ति पर चढ़ा दें। इस उपाय को करते ही शुभ् फल मिलने लगेंगे। 

यदि कुंडली में शनि दोष हो तो इसे दूर करने के लिए सात शनिवार नदी के बहते जल में नारियल प्रवाहित करें। नारियल को प्रवाहित करते समय ॐ रामदूताय नम: मंत्र का जप करें। 

बीमारी या बलाओं से बचने के लिए मंगलवार या शनिवार के दिन एक पानी वाला नारियल लेकर उसे संबंधित व्यक्ति के ऊपर से 21 बार वार लें। इसके बाद उस नारियल को किसी देवस्थान में चढा दें। साथ ही हनुमान जी के मंदिर में जाकर हनुमान चालीसा का पाठ करें और उन्हें चोला चढाएं।