मृत्यु का भय उनको है, जिनके कर्मो में दाग है…. हम महाकाल के भक्त है, हमारे खून में ही आग है।

मृत्यु का भय उनको है, जिनके कर्मो में दाग है…. हम महाकाल के भक्त है, हमारे खून में ही आग है।

मृत्यु का भय उनको है, जिनके कर्मो में दाग है…. हम महाकाल के भक्त है, हमारे खून में ही आग है।