जाने आखिर शनि देव का रंग क्यों है काला ?

जाने आखिर शनि देव का रंग क्यों है काला ?

हिन्दू धर्म के अनुसार सभी देवी-देवताओं में सूर्य देव का रूप परम तेजस्वी हैं. सूर्य की पूजा करने से उनके भक्तों का रूप भी उनके जैसे ही परम तेजस्वी हो जाता है और सबसे बड़ी गौर करने वाली बात ये है कि सूर्यदेव सभी को तेज़ प्रदान करते हैं पर उनके पुत्र शनिदेव काले रंग के हैं. सूर्य पुत्र होने के बाद शनि देव का रंग काला हैं. आइये बताते है कि शनि देव के काले रंग के पीछे की क्या कथा है 

इस कथा के अनुसार सूर्य देव का विवाह प्रजापति दक्ष की पुत्री संज्ञा से हुआ। सूर्य का रूप परम तेजस्वी था, जिसे देख पाना सामान्य आंखों के लिए संभव नहीं था। इसी वजह से संज्ञा उनके तेज का सामना नहीं कर पाती थी। कुछ समय बाद देवी संज्ञा के गर्भ से तीन संतानों का जन्म हुआ। यह तीन संतान मनु, यम और यमुना के नाम से प्रसिद्ध हैं। देवी संज्ञा के लिए सूर्य देव का तेज सहन कर पाना मुश्किल होता जा रहा था इसी वजह से संज्ञा ने अपनी छाया को पति सूर्य की सेवा में लगा दिया और खुद वहां से चली गई। कुछ समय पश्चात संज्ञा की छाया के गर्भ से ही शनि देव का जन्म हुआ। छाया का स्वरूप काला ही होता है इसी वजह से शनि भी श्याम वर्ण यानी काले रंग के हुए।